जानिए बिना माला के कैसे करे मंत्र जाप
April 15, 2019 • Rajesh Srivastava

जानिए बिना माला के कैसे करे मंत्र जाप

आपके पास मंत्र जाप करने वाली माला किसी समय उपलब्ध नहीं है, तो आप इस दौरान ‘करमाला’ तरीके से मंत्र जाप कर सकते हैं। यदि आप नहीं जानते हैं कि करमाला तरीका क्या है ? तो हम आपको बताते हैं।

दाएं हाथ की अनामिका उंगुली यानी मिडिल फिंगर के बीच के पोरुओं से शुरू कर कनिष्ठा यानी लिटिल फिंगर के पोरुओं से होते हुए तर्जनी यानी इंडेक्स फिंगर के मूल तक के 10 पोरुओं को गिनकर आप मंत्र जाप कर सकते हैं।

अनामिका यानी मिडिल फिंगर के बीच के शेष 2 पोरुओं को माला का सुमेरू मानकर पार न करें।

फिर दाएं हाथ पर दस मंत्र की गिनती कर बाएं हाथ की अनामिका यानी मिडिल फिंगर के बीच के पोरुओं से दहाई की एक संख्या गिनें।

इसके बाद दाएं हाथ के साथ बाएं हाथ पर दहाई के दस बार मंत्र गिनने पर 100 मंत्र संख्या पूरी हो जाती है।

आखिरी आठ मंत्र जप के लिए फिर से दाएं हाथ पर ही उसी तरह अनामिका यानी मिडिल फिंगर के मध्य भाग से गिनती शुरू कर शेष 8 मंत्रों का जानप कर पूरे 108 मंत्र यानी एक माला पूरी की जा सकती है।
आचार्य श्याम जी अग्निहोत्री