चंद्रशेखर आजाद कृषि एवं प्रौद्योगिक विश्वविद्यालय सीएसए 21 वा दीक्षांत समारोह
October 10, 2019 • RAJESH SRIVASTAVA

चंद्रशेखर आजाद कृषि एवं प्रौद्योगिक विश्वविद्यालय सीएसए 21 वा दीक्षांत समारोह
 
कानपुर नगर स्थित चंद्रशेखर आजाद कृषि एवं प्रौद्योगिक विश्वविद्यालय सीएसए के 21 वे दीक्षांत समारोह में पधारी उत्तर प्रदेश की राज्यपाल आनंदी बेन पटेल ने समारोह का शुभारम्भ किया। राज्यपाल ने पदक व पुरस्कार प्राप्त करने वाले छात्र एवं छात्रों को बधाई दिया और नई कृषि तकनीक से ग्रामीण भारत का निर्माण कर भविष्य में आने वाली चुनौतियों का भी सामना करने के लिए तैयार रहने को कहा। उन्होंने कहा कि जलवायु परिवर्तन, खाद्य सुरक्षा और टिकाऊ खेती के लिए शोध की आवश्यकता है। भूमि की गिरती उर्वरा शक्ति तथा भूजल के गिरते स्तर पर भी चिंता व्यक्त करते हुए उन्होंने कहा कि कृषि शिक्षा में लड़कियों की संख्या निरंतर बढ़ रही है जो महिला सशक्तिकरण का उदाहरण है।
 
राज्यपाल महोदया ने कहा कि कुपोषण की समस्या दूर हो सके इसके लिए कृषि वैज्ञानिक ऐसी खाद्यान की प्रजातियां विकसित करे जिसमे लोहा ,प्रोटींस , विटामिंस एवं लवण इत्यादि प्रचुर मात्रा में उपलब्ध हो। जलवायु परिवर्तन को गंभीर चुनौती बताते हुए उन्होंने कहा कि प्राकृतिक संसाधनों को संरक्षित रखते हुए टेक्नोलॉजी का उपयोग मानवता की बेहतरी के लिए करना समय की मांग है।
 
राज्यपाल ने कहा कि शिक्षा का लाभ समाज को मिले इसके लिए ध्यान देने की जरूरत है। उन्होंने पढने वाले बच्चों पर ध्यान केंद्रित करने , बेटियों से भेदभाव न करने और शादी में दहेज ना लेंने और ना देंने की बात कही। समारोह के दौरान राज्यपाल ने उच्च प्राथमिक विद्यालय के 25 बच्चों को बैग वितरित किया। 
 
समारोह में कुल 706 छात्र छात्राओं को उपाधियां वितरित की गई ,  जिसमे कृषि संकाय के छात्र  छात्राओं को 21 पीएचडी कृषि की उपाधि, गृह विज्ञान की 5 छात्राओं को गृह विज्ञान पीएचडी की  उपाधि , एमएससी कृषि के 146 , एमएससी उद्यान के 21, एमबीए एग्रीबिजनेस के 18 ,बीएससी ऑनर्स कृषि के 183 ,बीएससी ऑनर्स उद्यान के 28 एवं बीएससी ऑनर्स वानिकी के 25 छात्र-छात्राओं को उपाधि दी गई इसके साथ ही एमएससी गृह विज्ञान की 7, बीएससी गृह विज्ञान की 37 छात्राओं को भी उपाधि दी गई इस मौके पर बी.टेक. और एमटेक कृषि अभियंत्रण के बच्चों को तथा बीएससी मत्स्य विज्ञान के 215 छात्र-छात्राओं को उपाधियां वितरित की गई।
 
समारोह के मुख्य अतिथि जल संरक्षण एवं पर्यावरणविद् डॉ राजेंद्र प्रसाद सिंह ने डिग्री अर्जित करने वाले छात्र - छात्राओं को बधाई देते हुए कहा कि मानवता को चुनौतियां का सामना करना पड़ रहा है और उसमें अधिकतर बढ़ती जनसंख्या के लिए खाद्य सुरक्षा है।