कोरोना संक्रमण से निपटने के लिए आईआईटी ने विकसित किया पॉजिटिव प्रेशर रेस्पिरेटरी सिस्टम
April 16, 2020 • RAJESH SRIVASTAVA

कोरोना संक्रमण से निपटने के लिए आईआईटी और एसजीपीजीआई ने विकसित किया पॉजिटिव प्रेशर रेस्पिरेटरी सिस्टम (PPRS)

 
भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान कानपुर और संजय गांधी पोस्ट ग्रेजुएट इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज SGPGI द्वारा कोरोना संक्रमण से बचने के लिए सकारात्मक रूप से एक पॉजिटिव प्रेशर रेस्पिरेटर सिस्टम (PPRS) का एक प्रोटोटाइप विकसित किया है। आईआईटी कानपुर के प्रोफेसर नचिकेता तिवारी और एसजीपीजीआई में कोविड 19 आईसीयू प्रभारी प्रोफेसर देवेंद्र गुप्ता के अनुसार पॉजिटिव प्रेशर रेस्पिरेटर सिस्टम N95 श्वासयंत्र का अधिक सुरक्षित विकल्प है। 
 
आईआईटी के प्रोफेसर नचिकेता तिवारी के अनुसार कोरोना संक्रमण से बचने के लिए डॉक्टर्स, नर्सेज सहित अन्य सभी स्वास्थ्य कर्मी एन 95 मास्क पहनते है जिससे बाहर की संक्रमित वायु को सांस लेने के दौरान रोकता है। एन 95 मास्क की विश्व में उपलब्धता कम होने के साथ ही लगभग 95 % तक ही वायरस को रोक सकता है वही पॉजिटिव प्रेशर रेस्पिरेटर सिस्टम डिवाइस 99 से 100 % तक सक्षम होने के साथ ही स्थानीय स्तर पर कुशलता से बनायी जा सकती है। प्रोफेसर नचिकेता के अनुसार पॉजिटिव प्रेशर रेस्पिरेटर सिस्टम डिवाइस में दो वाल्व आधारित शुद्ध हवा के श्रोत है, जिससे अति संक्रमित वातावरण में भी काम करने वाला व्यक्ति भी सुरक्षित रहता है।