प्रभु राम पुष्पक विमान से गए थे अयोध्या, इसलिए अयोध्या में एयरपोर्ट - मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ
November 16, 2019 • RAJESH SRIVASTAVA

प्रभु राम पुष्पक विमान से गए थे अयोध्या, इसलिए अयोध्या में एयरपोर्ट - मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ  
 
औद्योगिक नगरी कानपुर नगर में आज उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ ने केंद्रीय मंन्त्री हरदीप सिंह पुरी के साथ आईआईटी गेट के सामने कानपुर मेट्रो रेल के निर्माण कार्य का शुभारंभ किया।
 
इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने कानपुर को सबसे बड़ा महानगर बताया और कहा कि पिछली सरकारों में 15 वर्षो तक कानपुर की उपेक्षा हुई है। सीएम ने आरोप लगते हुए कहा कि पिछली सरकार में बड़े बड़े प्रोजेक्ट के नाम पर लूट होती थी, बिना प्रोजेक्ट स्वीकृत किये प्रोजेक्टस का शिलान्यास कर वाहवाही लूट ली जाती थी। 
 
सीएम ने कि हमने विकास की योजनाओ को प्रत्येक चेहरे पर खुशहाली और देश की अर्थव्यवस्था को उचाईयो तक पहुंचाने का आधार बनाया है, पूर्वांचल एक्सप्रेस तेजी से आगे बढ़ रहा है। आगामी दो माह में हम बुंदेलखंड एक्सप्रेस वे का शिलान्यास करने जा रहे है। उन्होंने कहा कि गंगा एक्सप्रेस वे पश्चिमी उत्तर प्रदेश में मेरठ को प्रयागराज से जुड़ेगा। एक्सप्रेस वे कानपुर के बगल से होता हुआ जाएगा। 
 
सीएम ने कहा कि मार्च 2017 में जब हम लोग आये थे तब एक भी शहर में मेट्रो की सुविधा नहीं थी, आज प्रदेश में चार शहरो में मेट्रो की सुविधा उपलब्ध करा रहे है। सीएम ने कहा कि प्रधानमंत्री जी ने अपने कानपुर के पिछले विजिट में आगरा मेट्रो का शिलान्यास किया। 
 
सीएम ने कानपुर की पहचान माँ गंगा से बताते हुए कहा कि कानपुर में माँ गंगा का प्रदूषण समाप्ति की ओर है, स्मार्ट सिटी के रूप में इसका विकास  हो रहा है। सीएम ने कहा कि आने वाले दिनों में डिफेन्स मैन्युफैक्चरिंग कॉरिडोर कानपुर में स्थापित होना है। कानपुर में बहुत सम्भावनाये बताते हुए सीएम ने कहा कि बुंदेलखंड एक्सप्रेस वे को डिफेन्स कॉरिडोर के साथ जोड़ा जा रहा है। 
 
सीएम ने कहा कि 1947 से 2017 तक प्रदेश के दो शहर लखनऊ और वाराणसी ही वायु सेवा से जुड़े थे, जबकि आज उत्तर प्रदेश में 7 एयरपोर्ट  वायु सेवा से जुड़ चुके है और 11 पर हम कार्य कर रहे है। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश सरकार नोएडा के पास जेवर में देश का सबसे बड़ा एयरपोर्ट बनवाने जा रही है।
 
सीएम ने अयोध्या मामले में सुप्रीम कोर्ट के फैसले को बहुत सुखद बताते हुए कहा कि अयोध्या में एयरपोर्ट के लिए जमीन अधिग्रहण की कार्यवाही हमने पहले ही कर दिया था और 200 करोड़ रूपये दे दिए थे , वहां पर कार्य युद्ध स्तर से चल रहा है।