शून्य बजट प्राकृतिक (आध्‍यात्‍मि‍क) कृषि विधि - पद्मश्री डॉ सुभाष पालेकर 
November 6, 2019 • RAJESH SRIVASTAVA
 
 
शून्य बजट प्राकृतिक (आध्‍यात्‍मि‍क) कृषि विधि - पद्मश्री डॉ सुभाष पालेकर 
 
 
उन्नत भारत अभियान के तहत पदमश्री डॉ सुभाष पालेकर ने आईआईटी कानपुर प्रेक्षाघर में वैज्ञानिकों, छात्रों और किसानों को शून्य बजट प्राकृतिक आध्यात्मिक कृषि विधि पर व्याख्यान दिया। डॉ सुभाष पालेकर एक भारतीय कृषक एवं कृषि वि‍शेषज्ञ हैं। उन्होंने 'शून्य बजट आध्यात्मिक कृषि' के विषय में काफी अभ्यास किया है और कई पुस्तकें लिखी है। उन्होंने 'शून्य बजट प्राकृतिक (आध्‍यात्‍मि‍क) कृषि' का आवि‍ष्‍कार किया है और ऐसी तकनीक विकसित की है, जिसमें कृषि करने के लिए न ही किसी भी रासायनिक कीटनाशक का उपयोग नहीं किया जाता और न ही बाजार से अन्‍य औषधि‍यां खरीदने की आवश्‍यकता पड़ती है।
 
 
 
डॉ सुभाष पालेकर ने वैज्ञानिकों और किसानो से कहा कि हम प्रकृति के विपरीत नहीं जा सकते और यह प्रकृति का नियम है कि मानव नवनिर्मित करने की छमता नहीं रखता। गौरतलब है कि देश के 50 लाख किसान विशेषतः महाराष्ट्र, आंध्रा प्रदेश, कर्नाटक और राजस्थान में सुभाष पालेकर स्पिरिचुअल फार्मिंग विधि का प्रयोग करके लाभान्वित हो रहे हैं.
 
उन्नत भारत अभियान, आई आई टी कानपुर  के संचालक प्रोफेसर संदीप संगल ने बताया कि संस्थान डॉ सुभाष पालेकर के साथ मिलकर एक क्लस्टर बनाएगा जिसमे किसानो को प्राकृतिक खेती की विधियां सिखायी जाएंगी और खेती करायी जाएगी। उन्नत भारत अभियान कानपुर के तहत आईआईटी कानपुर द्वारा पांच गावो को गोद लिया गया है जिनमे डॉ पालेकर के मार्गदर्शन से काम किया जाएगा। इस प्रोजेक्ट मैं नाबार्ड की भी मदद ली जाएगी।