स्मार्ट सिटी मिशन कार्यशाला
September 24, 2019 • RAJESH SRIVASTAVA
 
 
 
 
 
 
स्मार्ट सिटी मिशन कार्यशाला
 
औद्योगिक नगरी कानपुर नगर को स्मार्ट सिटी बनाने की कवायद को लेकर राष्ट्रिय कार्यशाला का आयोजन किया गया। कानपुर नगर की महापौर प्रमिला पांडेय स्मार्ट सिटी मिशन कार्यशाला की मुख्य अतिथि रही। कार्यक्रम का उद्घाटन करते हुए उन्होंने नगरीय विकास को आवश्यकता के साथ एक चुनौती बताया। उन्होंने कहा कि कानपुर शहर स्मार्ट सिटी के मानकों में प्रदेश में नम्बर एक पर तथा भारतवर्ष में नंबर 07 पर है। स्मार्ट सिटी मिशन कार्यशाला में कानपुर को स्मार्ट सिटी बनाने के लिए यहां के यातायात, प्रदूषण नियंत्रण, कूड़ा निस्तारण, जलभराव , पेयजल , रेलवे एवं सुरक्षा के क्षेत्र और कानपुर में शिक्षा हब की संभावनाओ के साथ जल संरक्षण हेतु प्रभावी और सार्थक प्रयास पर चर्चा की गयी। इस दौरान e-gov मैग्जीन का विमोचन किया गया और परिसर मे लगी प्रदर्शनी को भी लोगो ने देखा।   
 
कार्यक्रम में पधारे तेलगाना राज्य के विशेष मुख्य सचिव अजय मिश्र ने स्मार्ट सिटी में जनता की सहभागिता को अति आवश्यक बताते हुए कहा कि तेलंगाना राज्य 03 वर्ष पूर्व विद्युत की समस्या से जूझ रहा था, आज 24 घंटे विद्युत आपूर्ति है और लगभग 3700 मेगावाट सोलर ऊर्जा का उत्पादन कर देश दूसरे स्थान पर है। उन्होंने कहा कि स्मार्ट सिटी में जनता की सहभागिता अति आवश्यक है। वही कार्यक्रम में पधारे दूतावास ट्यूनीशिया के प्रथम सचिव अली मेफ़्तही ने प्रदूषण और ग्लोबल वॉर्मिंग को बहुत बड़ी समस्या मानते हुए इसे रोकना एक चुनौती भरा कार्य बताया। 
 
मंडलायुक्त कानपुर और स्मार्ट सिटी के चेयरमैन सुभाष चंद्र शर्मा ने कहा कि कानपुर को स्मार्ट बनाने के साथ-साथ यहाँ की पुरातन हेरिटेज को बचाये रखना चुनौती है। उन्होंने कहा कि गंगा में साफ़ सफाई का ध्यान रखा जाये और गंदगी ना फैलाई जाए, सड़क पर लोग नियमो का पालन करे तो ट्रैफिक की समस्या काफी हद तक हल हो सकती है। इसमें शहर वासियों का सहयोग अपेक्षित होगा। कार्यक्रम में मेट्रो रेल कॉरपोरेशन , टेक महिंद्रा के अधिकारी , छत्रपति शाहू जी महाराज विश्वविद्यालय की कुलपति प्रो नीलिमा गुप्ता, नगर आयुक्त मुरादाबाद, नगर आयुक्त शाहजहांपुर , नगर आयुक्त और जिलाधिकारी कानपुर नगर सहित अन्य विभागों के अधिकारी मौजूद रहे।